Thursday, 18 August 2011

सलफर (Sulphur)

एक जबरदस्त दवा जिसे खुजली हो तो सभी याद करते है. शरीर के भीतर की उथल पुथल को बाहर की ओर फेकती है. जब दूसरी दवा विचार युक्त होने के बावजूद भी काम नहीं करती है तो शरीर की प्रतिक्रियात्मक शक्ति को जगाने के लिए सल्फर का प्रयोग किया जाता है.

लाल लाल खुजली. इतनी खुजली की खुजलाते रहे, खुजलाते रहे. ओर बाद में और तकलीफ. त्वचा की जलन, शरीर की जलन.

यह व्यक्ति बड़ी ही गहन बाते करता है. बड़ी ही तत्व की बाते. ऐसा तत्व जो बाकी लोग बड़ी मुश्किल से समझ पाते है. कहता है मैला कुचला कपडा बहोत अच्छा है. बाकी लोग देख कर हैरान है. कुछ दशाओ में आदमी लम्पट भी हो सकता है. बेहिसाब लम्पट.

कब्जियत की शिकायत हो सकती है. या एक दूसरी परिस्थिति भी संभव है. सुबह उठकर जोर से भागना पड़ता है पैखाने के लिए. सीट पर पहोचते ही धप धप कर के गिरता है.

पेशाब में जलन हो सकती है. जांघ में खुजली हो सकती है.

स्त्री को मासिक स्राव में जलन हो सकती है. सफ़ेद पानी से जलन हो सकती है. जब स्त्री रजो निवृत्ति की अवस्था में होती है तो इस दवा को याद करे. अन्यथा भी स्त्री को रक्त का बहाव माहवारी में कम होता है.

बहोत अधिक पसीना आ सकता है.

यह दवा हनिमन की तीन दवा की तिकड़ी का एक महत्त्वपूर्ण भाग है. उस तिकड़ी की अन्य दो दवाइया है कैल्क. कार्ब. और लायको.
इन दवाइयों का क्रम सलफर, कैल्क, लायको, सलफर ऐसा ही होना चाहिए. अर्थात आप सलफर के बाद लायको न दे और कैल्क के बाद सलफर न दे.

यह दवा नक्स वोमिका के आगे पीछे भी बढ़िया काम करती है.

यह व्यक्ति बहोत नहाना धोना पसंद नहीं करता. इसे सर्दी खासी की तकलीफ हो सकती है. खुजली को ठंडक से राहत पहुचती है. वैसे ये ओढ़ कर सोना पसंद नहीं करता. लेकिन बहोत ठंडी भी पसंद नहीं करता है. बारिश के दिनों में त्वचा की परेशानी बढ़ सकती है.

17 comments:

  1. एक ७० साल के सज्जन के हाथ में खुजली हुई. खुजला खजुला के परेशान हो गए. कुछ आयुर्वेदिक दवाइया भी खायी.
    यह एक तेज तर्रार आदमी है जो एक कारखाना चलाते है. उन्हें सल्फर ३० की एक खुराक दी गयी और बाद में हरिद्रा खंड खाने को कहा गया. उन्हें आराम हो गया.

    ReplyDelete
  2. एक ६५ साल की औरत ने कहा की उसे पेशाब में जलन होती है, उसे पैखाने के वक़्त खून जाता है, पुरे बदन में अचानक बहोत गरम महसूस होता है. उसे सल्फर २०० की कुछ खुराक लेने से राहत मिली.

    ReplyDelete
  3. एक ३० साल के आदमी को सुबह उठके पतले दस्त होते थे जो फव्वारे की तरह छूटते थे. वह दुबला होते जा रहा था.
    उसे पोड़ोफायलम ३०, नैटरम सलफ ३०, सुलफर २०० की कुछ खुराके एक के बाद के खिलाने से आराम हुआ. उसने ३ किलो बेल का मुरब्बा ३-४ महीने के अंतराल से खाया जिससे उसका वजन १५ किलो बढ़कर ५० किलो का स्वस्थ वजन हो गया.

    ReplyDelete
  4. तीन चार महीने के अन्तराल से मतलब है तीन चार महीने में ३ किलो बेल मुरब्बा खाया.

    ReplyDelete
  5. Scabies ka permanent cure batao please....
    9540050056

    ReplyDelete
  6. Muze pesab karne ki jagah ki aas paas gol gol chakame (ring) hoti hai jo din ba din badhti hai. aur khujli aati hai. Me pahle zole-f davai lagata tha to aaram hota tha ab coot-4 davai lagata hu. Vah kuchh dino ke bad fir se ho jati hai. Uska Ilaj batao please. mere bete ko bhi yah hona shuru hua hai voh 15 year ka hai. kya yeh chepi(infection) ka rog hai.
    please send me mail to mnvyas00@yahoo.com

    ReplyDelete
  7. Pure badan my kuzli hoti h agar 1 din evil na khau to khuza k paresHan ho hats Hu 7 mahine s treatment kara raha Hu dhoop m aane k baad ayr coolar ka panI on hone par jyada hota h

    ReplyDelete
    Replies
    1. Sulphur 200, 5 drops od and urtica urens mother tincture, 10 drops 3 times a day

      Delete
  8. Aapki Blog main padhta hu, i like your blog, aisi hi blog maine bhi banai hai hope viewers ko acha lage Homeopathic Treatment

    ReplyDelete
  9. Mujhe thighs pr fungul infection hai kya me sulphur 200 le skta hu

    ReplyDelete
  10. Mujhe hatho par gila eczeema hai kya sulphur 30 le skta hu mai
    Plz muje koi ilaj bataiye eczeema ka m bhut pareshaan hu??

    ReplyDelete
  11. Sir mujhe dry eczema hai dwa to Kar rha hu but koi labh nhi hua Itachi hoti rheti hai Puri body rukhi rheti hai koi elaj btaeye

    ReplyDelete
  12. Sir mujhe dry eczema hai dwa to Kar rha hu but koi labh nhi hua Itachi hoti rheti hai Puri body rukhi rheti hai koi elaj btaeye

    ReplyDelete
  13. Kya sulphur ko khane ke sath lagaya ja sakta hai

    ReplyDelete
  14. स्किन ड्राई और चुभन वाली इचिंग है। रात को बिस्तर में बढ़ जाती है। स्किन गर्म सी लगती है।

    ReplyDelete