Saturday, 20 August 2011

कोनियम (Conium)

यह व्यक्ति कमजोरी महसूस करता है.
यह दवा तब कारगर सिद्ध होती है जब आदमी को जबरन यौन संबंधो से विमुख रहने के कारण अनेक व्याधिया होती है.

इस दवा का असर स्त्री के वक्ष स्थलों पर देखा गया है. वक्ष स्थल के कैंसर पर भी इसको काम करते हुए देखा गया है.

इस दवा का विशेष लक्षण यह मान सकते है कैल्क कार्ब की तुलना में की इसमें स्त्री को प्रदर में खून कम जाता है.

शरीर के हिस्सों में झुन झुनी भी हो सकती है. धीरे धीरे यदि लकवा उभरता है तो इस दवा को याद करे.

पुरुषो में मर्दानगी की कमी देखी जा सकती है.

1 comment:

  1. एक स्त्री जो करीबन ७० साल की है उसे स्तन का कैंसर हो गया था. उसने डाक्टर के यहाँ जाकर उसका आपरेशन कर लिया.
    जब वह मेरे पास आई तो उसे जांघ में खुजली होती थी. और पैर में झुन झुनी होती थी. चेहरे और पैर पर सुजन भी रहती थी. उसे पैर में दर्द भी था. दर्द और कही न था. मैंने कोनियम २०० की ३ खुराक उसे खिलाई तो उसे झुन झुनी में आराम हुआ. कैल्क कार्ब २०० की ३ खुराक और रहस टाक्स २०० कई खुराक खाने के बाद उसके पैर की सुजन गयी और दर्द में भी कुछ राहत मिली.

    एक बार उसने बताया की उसे बिस्तर में चक्कर आ रहे है. मैंने उसे कोनियम की तीन खुराक दी, उसके चक्कर बंद हो गए.

    ReplyDelete