Friday, 19 August 2011

हेपर सल्फ़ (Hepar Sulph)

यह दवा सिलिशिया से काफी मेल खाती है.

यह व्यक्ति बहोत ही गुस्सेबाज है और बर्दाश्त करना इसका स्वभाव नहीं है.

इस व्यक्ति के फोड़े से बदबूदार पीब निकल सकता है.

छोटी पोटेंसी में यह दवा पीब निकलने का काम करती है तो बड़ी पोटेंसी में घाव सुखाने का काम करती है.

यह व्यक्ति ठण्ड नहीं बर्दाश्त करता और कफ से भर जाता है.

इसके कान से पतला मवाद निकल सकता है.

4 comments:

  1. एक ३० साल का नौजवान जब खास्ता था तो खासी रुके न रूकती थी. कभी सुखी खासी तो कभी बलगम वाली खासी. बड़ा गुस्से वाला आदमी था यह. उसको बदन पर फोड़े भी होते थे. हेपर सल्फ़ २०० की कुछ खुराको ने ऐसा जादू किया की खासी भी गयी और फोड़े भी गए.

    ReplyDelete