Wednesday, 17 August 2011

कैलकेरिया कार्ब (Calcarea Carb)

यह व्यक्ति मोटा होता है. हलचल करने में सुस्त होता है. कमजोर हड्डीवाला होता है.या ऐसे भी हो सकता है की उसका पोषण किसी कारण से हो न रहा हो. वह बहोत कमजोरी महसूस कर सकता है. उसकी ग्रंथियों में सुजन हो सकती है.

इस व्यक्ति को चिंता सताती है. वह घुटन महसूस करता है. चिडचिडापन होता है.

यदि यह व्यक्ति महिला है तो उसे प्रदर बहोत लम्बा आ सकता है. उसके प्रदर में बहोत खून जाने की संभावना भी होती है. उसे श्वेत प्रदर की तकलीफ भी हो सकती है.

यदि यह व्यक्ति पुरुष है तो उसमे वासना अधिक और उसे पूर्ण करने की शक्ति का अभाव हो सकता है.

उसे गरम मौसम अच्छा लगता है. ठंडी से या बारिश के मौसम में उसे तकलीफ होती है.

वह पानी काफी पिता है. ठंडा पानी पसंद करता है.

उसे कब्ज की शिकायत होती है. पैखाना सख्त और बड़ा होता है. बवासीर की तकलीफ भी हो सकती है. उसे डायरिया हो सकता है.

सीधी चढ़ने से उसकी सास फूलती है. उसे सास की तकलीफ हो सकती है.

उसकी सर्दी से नाक बह सकती है या बंद हो सकती है.

उसे जोर से खासी आती है और खस्ते वक़्त उसके छाती में दर्द होता है.

उसकी टोंसिल्स में सुजन हो सकती है.

उसे रात में नींद की तकलीफ सता सकती है. वह डरावने सपने देख सकता है.

11 comments:

  1. एक औरत उम्र ४५ साल एक अजीब समस्या लेकर उपस्थित हुई. उसने कहा की उसके मलद्वार पर एक गाठ है. पैखाना करते समय वह गाठ कट जाती है उस में से पिचकारी के सामान खून निकलता है. उसका लगभग १ लीटर खून एक बार में बह जाता है. माहवारी में भी उसे बहोत ज्यादा रक्त स्राव होता है. उसे कैल्क कार्ब १ एम की ३ खुराक से आराम हो गया. ३ महीने की गैप के बाद जब उसे फिर यह तकलीफ हुई तो उसे फिर उसी दवा ने आराम कराया.

    ReplyDelete
  2. एक ४७ साल की महिला मासिक धर्म में अति स्राव की शिकायत लेकर उपस्थित हुई. उसे रात में पावो की पिंडलियों में दर्द होता था. अनेक समस्याओ से चिंतित थी. उसे कैल्क कार्ब २०० की तीन खुराको ने आराम पहुचाया. दवा को २-३ महीने के अन्तराल से आवश्यकता के अनुरूप दोहराया भी गया. रहस टाक्स २०० को भी बिच बिच में प्रयोग किया गया.

    ReplyDelete
  3. एक पचास साल की विधवा को पैर में अकड़ और दर्द था. खासकर घुटनों में. कैल्क कार्ब २०० की ३ खुराक से आराम मिला. उसे दवा को आवश्यकता के अनुसार दोहराने को कहा गया. उसे माहवारी हर ३ हप्ते में आती थी और अधिक रक्त स्राव होता था.

    ReplyDelete
  4. एक दुबली पतली १० साल की बच्ची ने कहा की उसे स्कुल में चक्कर आते है और टान्सिल्स की भी शिकायत रहती है. उसे कैल्क कार्ब २०० की ३ खुराक से आराम हुआ.

    ReplyDelete
  5. एक आदमी को छह माले चढ़ने पड़ते थे. उसे सास की तकलीफ होती थी. उसे कैल्क कार्ब २०० की चंद खुराको से आराम मिला. उसकी बच्ची को खासी और उलटी में कैल्क कार्ब २०० से राहत मिलने के कारण उसे भी वह दवा दी गयी थी. नतीजा जबरदस्त आया.

    ReplyDelete
  6. एक महिला को घबराहट होती थी. उसकी छाती धडधडाती थी उसे लायको २०० की चंद खुराक से और बाद में कैल्क कार्ब २०० की चंद खुराक से आराम मिला.

    ReplyDelete
  7. एक ग्यारवी कक्षा में पढने वाली बच्ची को मासिक धर्म में अति रक्त स्राव होता था. वह सायकल चलाते वक़्त बहोत थक जाती थी. उसे कमजोरी बहोत रहती थी. बच्ची दुबली पतली और नाजुक थी. उसे कैल्क कार्ब २०० की ३ खुराको से आराम मिला.

    ReplyDelete
  8. एक ग्यारह साल की बच्ची को सफ़ेद पानी बहोत जाता था. बच्ची बहोत कमजोर हो गयी थी. उसे कैल्क कार्ब २०० की ३ खुराको से आराम मिला. उसे बाद में १५ दिन फेरम फोस ६ और काली मुर ६ भी दिया गया.

    ReplyDelete
  9. एक सत्तर साल की महिला ने घुटनों में कमजोरी की शिकायत की. उसे चला नहीं जाता था. उसे उम्र के ४२ साल से लेकर ५५ साल तक बहोत ज्यादा मात्र में रक्त प्रदर था ऐसा उसने बताया. उसे कैल्क कार्ब २०० की चंद खुराको से आराम मिला. उसे कहा गता की जब दर्द बढे तो दवा का पुनः प्रयोग करे. १५ दिन से भीतर दवा को दोहराने से सामान्य रूप में टाले.

    ReplyDelete
  10. बहुत ज्ञानवर्धक जानकारी है धन्यवाद

    ReplyDelete
  11. I m a female of age 33, from some time my weight is continuously increasing , do I go for homeopathic medicine. My doctor recommended me Calcarea Carbonica 200c one in a 7 day one drop and fucus vesiculosis ¶ 10 drops three time a day. But my mistake I took Calcarea carbonica 10 drop at morning. Please tell me , if it doesn't put any side affects on me? Anybody please answer my question

    ReplyDelete