Saturday, 20 August 2011

अर्सेनिकम आल्बम (Arsenicum Album)

यह अस्वस्थता की दवा है.  बेचैनी की दवा है. पेशंट को जब अत्याधिक चिंता सताती है तो इसे न भूले. कैंसर का या अन्य किसी जटिल रोग का रोगी अपने अंतिम दिनों में जब अत्याधिक पीड़ा झेलता है तो ऊँची पोटेंसी में प्रयुक्त होने से यह दवा आराम दिलाती है.

इस व्यक्ति को ठण्ड अधिक लगती है और वह ओढ़े रहना पसंद करता है.

गलत आहार से जब फ़ूड पोइसनिंग  होता है तो यह दवा काम करती है. वैसे इस व्यक्ति को लूज मोशन हो सकता है. ऐसा भी हो सकता है की पैखाना ठीक से न हो और बकरी की तरह थोडा थोडा हो.

इस दवा की सबसे बड़ी विशेषता यह है की इसमें आदमी शरीर के विभिन्न हिस्सों में जलन महसूस करता है और खुद को गरम बनाये रखने से ही राहत महसूस करता है. यह विरोधाभास है लेकिन यही पेशंट के साथ होता है. यदि इस प्रकार का पेशंट आपके सामने है तो बड़ी संभावना है की यह दवा काम करेगी.

चर्म रोगों पर यह अच्छा असर दिखाती है.

स्त्री को प्रदर में भारी स्राव हो सकता है.

व्यक्ति को रात में नींद न आने की शिकायत हो सकती है.

व्यक्ति कमजोरी महसूस करता है और काम करने के बाद बेहद थक जाता है.

3 comments:

  1. एक व्यक्ति को डायरिया हो गया. व्यक्ति की उम्र ७० साल के ऊपर. वह बहोत घबराने लगा. उसे आर्सेनिक अल्ब ३० की एक खुराक देने से उसका घबराना बंद हो गया और उसे दस्त में भी राहत मिली.

    ReplyDelete
  2. एक महिला ने बताया की उसको पलट पलट कर बुखार आता है और कप कपी होती है. उसे आर्सेनिक एल्ब ३० की २-२ गोली एक हफ्ता सुबह शाम देने से राहत मिली.

    ReplyDelete